Swigyy अब खाने की तरह शराब की भी कर रही होम डिलीवरी, ऑर्डर करने से पहले जान लें ये बातें

Alcohol home delivery swiggy

शराब पीना है लेकिन कोरोना की वजह से बाहर नहीं जाना चाहते हैं। जी हां, अब बिलकुल ऐसा सोच सकते हैं आप। अब ग्राहक घर बैठे ऑनलाइन शराब के लिए ऑर्डर कर सकते हैं और चंद मिनटों में शराब आपके घर पर पहुँच जायेगी। क्यूँकि, फूड ऑर्डरिंग व डिलीवरी प्लेटफॉर्म स्विगी (Swiggy) ने अब शराब की भी होम डिलीवरी शुरु कर दी है।

दरअसल, स्विगी ने गुरुवार को जानकारी दी कि, कंपनी अब शराब की होम डिलीवरी भी करेगी। कंपनी ने गुरुवार से झारखंड के रांची शहर में यह सेवा शुरू कर दी है। स्वि​गी का दावा है कि, इसके लिए उसे राज्य सरकार से भी जरूरी मंजूरी मिल गई है।

दूसरे राज्यों में भी जल्द शुरु होगी शराब की होम डिलीवरी

स्विगी ने एक बयान में कहा कि, “रांची में घरों तक शराब की आपूर्ति का काम शुरू हो गया है, राज्य के अन्य शहरों में भी एक सप्ताह के भीतर यह काम शुरू हो जाएगा। दूसरे राज्यों में ‘ऑनलाइन ऑर्डर’ पूरा करने और उसकी ‘होम डिलीवरी’ के लिए संबंधित राज्य सरकारों से भी बातचीत कर रही है।

ऑर्डर करने से पहले करने होंगे ये वेरिफिकेशन

शराब की होम डिलीवरी को लेकर जरुरी नियमों के पालन और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कंपनी ने कई उपाय किये हैं। शराब की होम डिलीवरी के लिए आपको पहले उम्र वेरिफिकेशन और अन्य कई ऑथेन्टिकेशन करने होंगे। इतना ही नहीं, ग्राहकों को पहले अपने वैलिड पहचान पत्र की एक कॉपी अपलोड कर उम्र की वेरिफिकेशन करानी होगी। इसके बाद उन्हें एक सेल्फी भेजनी होगी, जिसे कंपनी आर्टिफिशयल इंटेलीजेंस सिस्टम (AI Systems) के जरिए वेरिफाई करेगी।

swiggy alcohol delivery

नियमों के मुताबिक ही कर सकेंगे शराब का ऑर्डर

इस सुविधा का लाभ लेने के लिए रांची में कस्टमर्स अपने स्विगी ऐप में ‘Wine Shops’ कैटेगरी में जाकर ऑर्डर कर सकते हैं। सभी ऑडर्स के साथ एक OTP भी दिया जाएगा, जिसे डिलीवरी के समय पर वेरिफाई करना होगा। इसके अलावा, ऑर्डर की ​क्वांटिटी को लेकर भी कैपिंग की सुविधा है ताकि कोई ग्राहक जरूरी प्रावधानों से अधिक शराब न खरीद सके। हालांकि, यह राज्यों द्वारा तय नियमों के आधार पर होगा।

आपको बता दें कि, कंपनी किराना सामानों और कोविड-19 राहत उपायों का दायर बढ़ाने जैसी पहल के लिये पहले से ही स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर काम कर रही है। Swiggy द्वारा दिए गए बयान के मुताबिक़, कंपनी के पास प्रौद्योगिकी और ढांचागत सुविधा है जिससे वह छोटे-छोटे गली-मोहल्ले में भी सामानों की आपूर्ति कर सकती है। स्विगी ने स्पष्ट किया है कि, राज्य सरकारों के दिशानिर्देश के अनुसार लाइसेंस और अन्य जरूरी दस्तावाजों का सत्यापन करने के बाद ही अधिकृत खुदरा दुकानदारों के साथ यह गठजोड़ किया गया है।

Facebook Comments