भारतीय टेलीकॉम की दिग्गज कंपनी रिलायंस जियो में फेसबुक की हिस्सेदारी की संभावना तेज

reliance jio and facebook deal

सोशल मीडिया के क्षेत्र में अग्रणी माने जाने वाले फेसबुक की भारतीय टेलीकॉम की दिग्गज कंपनी रिलायंस जियो में 10% हिस्सेदारी हासिल करने की बात चल रही है।

पहली बार, 370 मिलियन ग्राहकों के साथ टॉप दूरसंचार ऑपरेटर जियो अब रणनीतिक निवेश के लिए अपनी हिस्सेदारी को कम करेगा। बता दें कि, मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस इंडस्ट्री लिमिटेड ने अब तक सहायक कंपनी में $ 25 बिलियन से अधिक की पूंजी लगाई है।

मार्क जुकरबर्ग के नेतृत्व वाली कंपनी भी जियो (Jio) के साथ प्रारंभिक समझौते पर हस्ताक्षर करने के करीब थी। फाइनेंशियल टाइम्स में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोनोवायरस महामारी के कारण दुनिया भर में हुए यात्रा प्रतिबंध की वजह से इस समझौते को आगे स्थगित कर दिया है।

यह भी पढ़ें – कोरोना संकट के बीच पेटीएम ने किया बड़ा एलान, दवा बनाने के लिए देगी 5 करोड़ रुपये और अमेजन ने लिया ये फैसला 

जियो में हिस्सेदारी हासिल करने के लिए कई अरब डॉलर का सौदा होने की संभावना है जैसे कि सैनफोर्ड सी, बर्नस्टीन एंड कंपनी, एलएलसी ने दूरसंचार कंपनी को $ 60 बिलियन से अधिक का मूल्य दिया था।

माना जा रहा है कि, रिलायंस जियो के लिए यह हिस्सेदारी की बिक्री काफी महत्वपूर्ण होगी, क्योंकि कंपनी 2021 तक अपने अधिकांश कर्ज का भुगतान करना चाहती है। कंपनी ने वित्त वर्ष 2019 में लगभग 1,450 करोड़ रुपये के कुल कर्ज की रिपोर्ट की थी और वित्त वर्ष 2021 के अंत तक इसके 1,700 करोड़ रुपये से अधिक तक पहुंचने का अंदाजा लगाया गया था।

बर्नस्टीन के विश्लेषक, नील बेवरिज और क्रिस लेन के अनुसार, आरआईएल (रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी को अगले साल लाभ होने की उम्मीद है, और वित्त वर्ष 2023 तक यह आरआईएल के सबसे बड़े एबिटा योगदानकर्ता बनने के ऊर्जा व्यवसाय से आगे निकल जाएगी।

टेलिकॉम के अलावा जियो कंपनी, UPI के माध्यम से डिजिटल भुगतान, म्यूजिक स्ट्रीमिंग ऐप जियो सावन (Jio Saavn), किराना प्लेटफॉर्म जियो मार्ट (JioMart), ऑन-डिमांड टीवी सेवा जियो टीवी (JioTv) जैसे कई अन्य उत्पादों का एक समूह है।

हाल ही में, जियो ने सरकार से 5G परीक्षण करने की अनुमति के लिए आवेदन किया था। अगर इसके लिए अनुमति दी जाती है, तो जियो खुद के द्वारा विकसित प्रौद्योगिकी और डिजाइन के आधार पर 5G सेवाओं की पेशकश करने वाली पहली कंपनी होगी।

आपको बता दें कि, फेसबुक के लिए यह निवेश भारत में तीसरा निवेश होगा। पिछले नौ महीनों में, इसने सोशल कॉमर्स स्टार्टअप मीशो में 25 मिलियन डॉलर का निवेश किया था और एडटेक स्टार्टअप अनसैकेडमी में लगभग 15 मिलियन डॉलर का निवेश किया था।

Facebook Comments