लॉकडाउन में रेल के बाद अब फ्लाइट को भी मिली हरी झंडी लेकिन नहीं लें फ्लाइट टिकट, ये हैं 5 बड़ी वजहें

Flight Booking started in lockdown

लॉकडाउन 4.0 में केंद्र सरकार ने भारी दबाव के बीच अब डोमेस्टिक फ्लाइट सेवा को भी मंजूरी दे दी है। आपको बता दें कि, अगले सोमवार यानी 25 मई से फ्लाइटें दोबारा शुरू करने की घोषणा कर दी गई है। केंद्र सरकार यह फैसला अलग-अलग राज्यों में फंसे लोगों के लिए राहत भरी खबर है। फंसे लोगों के अलावा, लॉकडाउन में फंसे कई अन्य लोग भी अपने आपको तरोताजा करने के लिए भी अब दूसरे शहरों में जाने की योजना बना रहे होंगे। लेकिन, इस बीच एक्सपर्ट्स का मानना है कि इस समय फिलहाल फ्लाइटों में नहीं जाना ही एक सही कदम है।

5 बड़ी वजहें जो आपको अपने प्लान पर दोबारा सोचने पर मजबूर कर देगी..

1. दिल्ली से बेंगलुरु का किराया लंदन के किराए बराबर

देश की एक बड़ी ट्रैवल वेबसाइट के अनुसार इस समय आपको दिल्ली से बेंगलुरु जाने के लिए फ्लाइट में 20 हजार रुपये से भी ज्यादा किराया देना पड़ेगा। किसी सामान्य दिन में इस कीमत पर आप दिल्ली से लंदन की फ्लाइट बुक करा सकते हैं। एक टूर ऑपरेटर के मुताबिक शुरूआती पहले हफ्ते में ज्यादातर फ्लाइटों की कीमत चार गुना से भी ज्यादा हो सकती है। सामान्य दिनों में दिल्ली से मुंबई की फ्लाइट 2-5 हजार में बड़ी आसानी से मिल जाती है। लेकिन 25 मई को इस रूट का किराया 17 हजार से ज्यादा बताया जा रहा है।

2. सबसे ज्यादा एयरपोर्ट से ही फैला कोरोना वायरस

विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना वायरस को फैलाने में एयरपोर्ट्स की भूमिका सबसे ज्यादा रही है। एयरपोर्ट में हर तरह के लोग आते हैं, ऐसा तो है नहीं की किसी के कपड़ों और चेहरे से कोरोना वायरस मुक्त होने की गारंटी दी जा सकती है। इसलिए, ऐसे में सबसे ज्यादा वायरस एयरपोर्ट से फैलने की संभावना बनी रहती है।

3. सोशल डिस्टेंसिंग नहीं

पहले ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि लॉकडाउन के बीच अगर फ्लाइट सेवा शुरु होती है तो उसमें बीच वाली सीट को खाली रखा जाएगा ताकि सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहे और यात्रियों को संक्रमण से बचाया जा सकेगा। लेकिन, बुधवार रात केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने इस बात को स्पष्ट करते हुए कहा कि, फ्लाइटों में बीच की सीट खाली छोड़ने का सवाल ही नहीं है। ऐसे में आप खुद ही अंदाजा लगा सकते हैं कि, 2-3 घंटे की फ्लाइट में यात्रियों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग का पूरी तरह से खिलवाड़ होना लाजमी है या नहीं।

4. एयरपोर्ट से घर के बीच ट्रांसपोर्ट एक समस्या

अगर आप दिल्ली में रहते हैं तो शायद आपको एयरपोर्ट तक पहुंचने के लिए कैब की सुविधा मिल जाए लेकिन ये जरूरी नहीं है कि जहां आप जाना चाह रहे हैं वहां भी ट्रांसपोर्ट की सुविधा होगी। बता दें कि, अभी तक देश के किसी भी राज्य ने पब्लिक ट्रांसपोर्ट को मंजूरी नहीं दी है। ऐसे में आपको एयरपोर्ट से घर पहुंचने में भी काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

5. एयरपोर्ट में होगी खासी दिक्कत

दिल्ली एयरपोर्ट के अधिकारियों का कहना है कि, यात्रियों की सुविधा और कोरोना संक्रमण मुक्त रखने के लिए एयरपोर्ट प्राधिकरण ने पूरी तैयारी कर ली है। मतलब, सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए एंट्री से लेकर बोर्डिंग पास तक की लाइन में 6 मीटर की दूरी का नियम तय किया गया है। इसका मतलब साफ़ है कि आपको एयरपोर्ट पर फ्लाइट तक पहुंचने में अच्छी खासी परेशानी होने वाली है।

एक्सपर्ट्स द्वारा कयास लगाए गए इन सभी वजहों पर विचार कीजिए और उसके बाद ही टिकट बुकिंग की प्रकिया को पूरा कीजिए।

Facebook Comments